शनिवार, सितंबर 13, 2008

कीर्तन - राम अपनी कृपा से

राम अपनी कृपा से मुझे भक्ति दे .
राम अपनी कृपा से मुझे शक्ति दे ..

नाम जपता रहूँ काम करता रहूँ .
तन से सेवा करूँ मन से संयम कर्रूँ ..

नाम जपता रहूँ काम करता रहूँ .
श्री राम जय राम जय जय राम ..
एक टिप्पणी भेजें