यह ब्लॉग खोजें

लोड हो रहा है. . .

जुलाई 06, 2015

भजन: जो घट अंतर हरि सुमिरे

bhajan: jo ghat antar hari sumire

जो घट अंतर हरि सुमिरै .
ताको काल रूठि का करिहै
जे चित चरन धरे ..
हरि सुमिरे

राम सिया राम जय जय राम सिया राम

सहस बरस गज युद्ध करत भयै
छिन एक ध्यान धरै .
चक्र धरै वैकुण्ठ से धायै
बाकी पैंज सरे  ..
हरि सुमिरे

राम सिया राम जय जय राम सिया राम

जहँ जहँ दुसह कष्ट भगतन पर
तहं तहँ सार करै .
सूरजदास श्याम सेवै ते
दुष्तर पार करे ..
हरि सुमिरे

राम सिया राम जय जय राम सिया राम

जो घट अंतर हरि सुमिरै .
ताको काल रूठि का करिहै
जे चित चरन धरे ..
हरि सुमिरे

राम सिया राम जय जय राम सिया राम

Listen to the bhajan sung by
VNS Bhola, Santu Shrivastav, Madhav Mukund, Krishna, Shanta, Anjana, Meghna, Prarthana
( भोला , माधव, सतू , कृष्णा, शांता ,अंजना , मेघना ,प्रार्थना आदि द्वारा प्रस्तुत सूरदास जी का भजन )
from BholaKrishna Youtube Channel

जून 20, 2015

रामचरितमानस - Ramcharitmanas - Youtube Playlist

Playlist of 30 PARTS for Shri Ramcharitmanas recitation

https://www.youtube.com/playlist?list=PLdPMkKKaMm2Y7Glic4275GSjoKIoe2qzv 

Complete text and audio - suitable for doing parayana.





Youtube videos with audio with lyrics posted by user MangopeoplefromBR

 (there is some duplication as the audio shifts to clips by Anup Jalota.
Main recitation is in the voice of an anonymous Swami ji from Shri Paramahamsa Ashram.) Dharkundi.)

जून 16, 2015

भजन - हे गोविन्द राखो शरन

bhajan - he govind rakho sharan

MP3 Audio

हे गोविन्द हे गोपाल

हे गोविन्द राखो शरन
अब तो जीवन हारे

नीर पिवन हेत गयो सिन्धु के किनारे
सिन्धु बीच बसत ग्राह चरण धरि पछारे

चार प्रहर युद्ध भयो ले गयो मझधारे
नाक कान डूबन लागे कृष्ण को पुकारे

द्वारका मे सबद दयो शोर भयो द्वारे
शन्ख चक्र गदा पद्म गरूड तजि सिधारे

सूर कहे श्याम सुनो शरण हम तिहारे
अबकी बेर पार करो नन्द के दुलारे

Listen to the bhajan at Bholakrishna youtube channel at
https://www.youtube.com/watch?v=sYhoscjfd4s

भजन - हरि हरि हरि हरि सुमिरन करो

bhajan - hari hari hari hari sumiran karo

MP3 Audio - Bhola
MP3 Audio 2 -Lakshmi Bai Rathod

हरि हरि, हरि हरि, सुमिरन करो,
हरि चरणारविन्द उर धरो ..

हरि की कथा होये जब जहाँ,
गंगा हू चलि आवे तहाँ ..
हरि हरि, हरि हरि, सुमिरन करो ...

यमुना सिंधु सरस्वती आवे,
गोदावरी विलम्ब न लावे .

सर्व तीर्थ को वासा तहाँ,
सूर हरि कथा होवे जहाँ ..
हरि हरि, हरि हरि, सुमिरन करो ...



Listen to the bhajan at Bholakrishna youtube channel at
https://www.youtube.com/watch?v=R4iTCjip0I8

भजन - मन लाग्यो मेरो यार फ़कीरी में

Kabir Bhajan - man laago mero yaar phakiri me

मन लाग्यो मेरो यार फ़कीरी में ..

जो सुख पाऊँ राम भजन में
सो सुख नाहिं अमीरी में
मन लाग्यो मेरो यार फ़कीरी में ..

भला बुरा सब का सुन लीजै
कर गुजरान गरीबी में
मन लाग्यो मेरो यार फ़कीरी में ..

आखिर यह तन छार मिलेगा
कहाँ फिरत मग़रूरी में
मन लाग्यो मेरो यार फ़कीरी में ..

प्रेम नगर में रहनी हमारी
साहिब मिले सबूरी में
मन लाग्यो मेरो यार फ़कीरी में ..

कहत कबीर सुनो भयी साधो
साहिब मिले सबूरी में
मन लाग्यो मेरो यार फ़कीरी में ..



Listen to the bhajan at Bholakrishna youtube channel at
https://www.youtube.com/watch?v=ySUvw-XTFp8

मई 07, 2015

स्वामी सत्यानन्द जी महाराज द्वारा रचित १८ भजन

स्वरकार एवं गायक - व्ही एन श्रीवास्तव 'भोला'

स्वामी सत्यानन्द जी महाराज द्वारा रचित १८ भजन भोलाजी की आवाज़ में निम्न youtube लिंक्स से सुने..