गुरुवार, अक्तूबर 04, 2012

भजन : मेरो मन राम ही राम रटे रे

मेरो मन राम ही राम रटे रे

राम नाम जप लीजे प्राणी
कोटिक पाप कटे रे

जनम जनम के खत जो पुराने
नाम ही लेत फटे रे

Listen to the bhajan - MP3 by Anil and Induja Shrivastava

म्हारो मन राम-ईराम-रटे।
राम नाम जप लीजे प्राणी, कोटो पाप कटे।
जनम जनम रा खत जे पुरामआ, नाम ई लेत फटे।
कनक कटोरे इमरत भरियो, पीतां कूण नटे।
मीरा रा प्रभु हरि अविनासी, तन मन थारे पटे।

भजन : पायो जी मैंने राम रतन धन पायो

पायो जी मैंने, राम रतन धन पायो ..

वस्तु अमोलिक, दी मेरे सतगुरु, किरपा करि अपनायो .

जनम जनम की पूंजी पाई, जग में सभी खोवायो .

खरचै न खूटै, जाको चोर न लूटै, दिन दिन बढ़त सवायो .

सत की नाव, खेवटिया सतगुरु, भवसागर तर आयो .

मीरा के प्रभु गिरिधर नागर, हरष हरष जस गायो .


Listen to Bhajan -
Payo ji maine Ram Ratan Dhan Payo
MP3 Audio by Sau.  Amita Shrivastava