शनिवार, सितंबर 05, 2015

भजन: छोटी छोटी गैया, छोटे छोटे ग्वाल

छोटी छोटी गैया, छोटे छोटे ग्वाल ।
छोटो सो मेरो मदन गोपाल ॥

आगे आगे गैया पीछे पीछे ग्वाल।
बीच में मेरो मदन गोपाल॥

कारी कारी गैया, गोरे गोरे ग्वाल।
श्याम वरण मेरो मदन गोपाल॥

घास खाए गैया, दूध पीवे ग्वाल।
माखन खावे मेरो मदन गोपाल॥

छोटी छोटी लकुटी, छोटे छोटे हाथ।
बंसी बजावे मेरो मदन गोपाल॥

प्यारी प्यारी गोपियां मधुबन बाग़।
रास रचावे मेरो मदन गोपाल॥


एक टिप्पणी भेजें