मंगलवार, अगस्त 25, 2015

भजन: हरि तुम बहुत अनुग्रह कीन्हो

bhajan: hari tum bahut anugrah kinho

Click here to listen to bhajan by Shri V N Shrivastav 'Bhola'

हरि तुम बहुत अनुग्रह कीन्हो .
साधन धाम बिबिध दुरलभ तनु मोहे कृपा कर दीन्हो ..

कोटिन्ह मुख कहि जात न प्रभु के एक एक उपकार .
तदपि नाथ कछु और मांगिहत दीजो परम उदार ..
एक टिप्पणी भेजें