मंगलवार, जून 28, 2011

भजन : आप बिन कौन सुने प्रभु मोरी

bhajan:  aap bin kaun sune prabhu mori

आप बिन कौन सुने प्रभु मेरी

तुम समरथ सब लायक दाता
सब पर कृपा घनेरी

दास की विपद निवारण कीजे
अरज करूं मैं तेरी

जब जब पीर पड़ी भगतन पर
तब तब की न देरी

कहत कबीरा देर कहाँ की
नाथ शरण मैं तेरी




Click on the player above to listen to 'Aap Bin Kaun Sune Prabhu Meri' bhajan sung by V N Shrivastav 'Bhola' .
एक टिप्पणी भेजें