शुक्रवार, सितंबर 20, 2013

भजन : सुनि कान्हा तेरी बांसुरी

Listen to the bhajan -
Suni Kanha Teri Bansuri - MP3 Audio -
by Sau. Induja Shrivastav


सुनि कान्हा तेरी बांसुरी
बांसुरी तेरी जादू भरी

सारा गोकुल लगा झूमने
क्या अजब मोहिनी छा गयी
मुग्ध यमुना थिरकने लगी
तान बंसी की तड़पा गयी
मैं तो जैसे हुई बावरी

सुनि कान्हा तेरी बांसुरी
बांसुरी तेरी जादू भरी

हौले से कोई धुन छेड के
तेरी बंसी तो चुप हो गयी
सात  स्वर के भंवर में  कहीं
मेरे मन की कली खो गयी
छवि मन में बसी सांवरी

सुनि कान्हा तेरी बांसुरी 
बांसुरी तेरी जादू भरी

Thanks to Induja Bhabhi for the lyrics



Updated on Sept 20, 2013

Thanks to Gita Jiji for the youtube link with this non-filmi bhajan by Geeta Dutt.
 

3 टिप्‍पणियां:

बेनामी ने कहा…

bahut sundar - bahut hi sundar | dhanyavad

वन्दना ने कहा…

मेरे मन की कली खो गयी
छवि मन में बसी सांवरी

सुनि कान्हा तेरी बांसुरी
बांसुरी तेरी जादू भरी

आनन्द सरिता बह रही है।

"जाटदेवता" संदीप पवाँर ने कहा…

बेहतरीन लिखा है, अच्छे शब्द