शनिवार, अप्रैल 03, 2021

होली: होलीआई रे कान्हा बृज के बसिया

Listen to this Holi `Holi aayii re kaanhaa brij ke basiya' in the voice of Dr. Uma Shrivastava


होलीआई रे कान्हा बृज के बसिया

होलीआई रे कान्हा…


आज बिरज में धूम मची है, सब मिल खेलें होली

झांझ मृदङ्ग मंजीरा बाजे,

नाचे छोरा छोरी

ऐसी धूम मची बृज में रसिया

होलीआई रे कान्हा…


अपने अपने घर से निकसी, कोई श्यामल कोई गोरी,

किसी के हाथ गुलाल पिटारी 

कोई मारे पिचकारी

अब तो धूम मची बृज में रसिया

होलीआई रे कान्हा…


इत से आई कुंवरि राधिका, हाथ गुलाल पिटारी,

उत से धाये कृष्ण कन्हाई,

भर मारी पिचकारी 

ऐसा फाग रच्यो बृज में रसिया

होलीआई रे कान्हा…


कोई टिप्पणी नहीं: